राजस्व अधिकारी दायित्वों के प्रति गंभीरता बरतें – मुख्य सचिव श्री सिंह    |    सेवानिवृत्ति पर भावभीनी विदाई    |     पटवारी भर्ती, आज फिर 4000 से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा से वंचित    |    पटवारी भर्ती, TCS की व्यवस्था पर उठे सवाल     |    'दीनदयाल रसोई योजना' आम ग़रीबजनों के लिए वरदान साबित    |    पटवारी भर्ती परीक्षा 9 दिसम्बर से कलेक्टर बनाए गए समन्वयक    |    कार को वाय वाय, साईकिल से दफतर जाया करेंगे कलेक्टर     |     पटवारी परीक्षा कार्यक्रम में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है     |    निकलने वाली हैं बहुत जल्द 2300 असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती    |    पटवारी आवेदन की तारीख बड़ी अब 15 तक कर सकेंगे आवेदन    |    

कदम बढ़ाते ही कुछ हासिल हो जाए यह जरूरी नहीं, कदम बढ़ाते रहना ही कुछ हासिल करना है

PUBLISHED : Dec 09 , 10:18 PM

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कदम बढ़ाते ही कुछ हासिल हो जाए यह जरूरी नहीं

 

 

 

कदम बढ़ाते रहना ही कुछ हासिल करना है 


 
हाल में सागर की तहसील देवरी में पदस्थ पटवारी श्री संजीव गोस्वामी का म.प्र. लोक सेवा आयोग की राज्य सेवा परीक्षा 2014 में चयनित होकर पटवारी से डिप्टी जेलर  पद पर चयन हुआ हैl संजीव हमेशा ही शिक्षा के क्षेत्र में आगे रहेl "ये राहें ले ही जायेंगी मंजिल तक हौंसला रख, कभी सूना है कि अँधेरे ने सवेरा होने न दियाl" पक्के इरादे, समय की कद्र और कड़ी मेहनत से श्री संजीव ने यह मुकाम पायाl इस अवसर पर सफलता के लिए क्या करना होता है, जानने के लिए "पटवारी अभिमत'' प्रतिनिधि एवं "मध्यप्रदेश जागरूक पटवारी संघ" महामंत्री श्री अरुण कुमार जैन ने उनसे बातचीत की, जो आपके लिए प्रस्तुत है- 

* सिविल सेवा परीक्षा में सफलता पर सबसे पहले तो पटवारी अभिमत एवं मध्यप्रदेश जागरूक पटवारी संघ परिवार की ओर से आपको बहुत बहुत हार्दिक बधाई और शुभकामनाएंl 
- जी आपका बहुत बहुत धन्यवाद 
* इस परिक्षा की तैयारी और सफलता प्राप्त करने के पीछे किस तरह से प्रयास किये?
- राज्य सेवा परीक्षा की तैयारी में 1-2 वर्ष की कड़ी मेहनत व सतत परिश्रम की आवश्यकता होती हैl पटवारी पद पर रहते हुए समय निकाल कर पढ़ने की चुनौती रही, लेकिन किसी प्रकार समय निकाला और प्रतिदिन 3-4 घंटे पढ़ाई कीl 
* सिविल सेवा में जाने का विचार कैसे आया? 
- वर्ष 2012 में मैंने ठान लिया था कि अब पी एस सी के माध्यम से अपना कैरियर बनायूँगाl 
* पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में  बताएं?
- मेरे साथ मेरे परिवार का पूरा सहयोग रहाl मेरे पिता श्री दिनेश कुमार गिस्वमी बरकोटी कलां में कृषक हैं, मां श्रीमती आशा गोस्वामी गृहिणी हैं l परिवार में दादा-दादी के साथ 2 छोटी बहने हैं, जो अभी शिक्षाध्ययन कर रही हैंl ग्रामीण पृष्ठभूमि के कारण प्रारम्भिक शिक्षा में कुछ कमी रही, जिसे मैं निरन्तर प्रयास से दूर कियाl 
* म.प्र. लोक सेवा आयोग की परिक्षा पद्दति के बारे में कुछ बताएं?
लोक सेवा परिक्षा अपने आप में एक वृहद और चुनौतीपूर्ण लक्ष्य हैl यह परिक्षा 3 चरण में पूर्ण होती हैl 1. प्रारम्भिक परीक्षा 2. मुख्य परीक्षा 3. साक्षात्कारl 
प्रारम्भिक परीक्षा में 2 प्रश्न पत्र होते हैंl एक सामान्य अध्ययन और दूसरा CSAT वहीँ मुख्य परीक्षा में 1400 अंक के 6 प्रश्न पत्र होते हैं, जिनके उत्तर व्याख्यात्मक लिखने होते हैं और 175 अंक का साक्षात्कार होता हैl इसके बाद मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार के अंकों को जोड़कर अंतिम मेरिट सूची तैयार होती हैl 
* आप भावी प्रतियोगियों को क्या कोई सन्देश देना चाहेंगे?
- अवश्य, यदि कोई पटवारी भाई पद के साथ साथ पी एस सी की तैयारी करना चाहते हैं या कर रहे हैं तो मैं कहना चाहता हूँ कि हर वर्ष कई पटवारी साथी पी एस सी की परीक्षा में शामिल होते हैंl और चुने भी जाते हैंl मैं कहना चाहता हूँ कि सफलता के लिए प्रत्येक कार्य नियत समय में पूर्ण करने का लक्ष्य बनाएं एवं प्रति दिन सतत रूप से 3-4 घंटे अध्ययन के लिए अवश्य निकालेंl यदि आप ऐसा करते हैं तो 1-2 वर्ष में चयन अवश्य हो जाएगाl 
"ये राहें ले ही जायेंगी मंजिल तक हौंसला रख 
कभी सुना है कि अँधेरे ने सवेरा होने न दियाl"
* आपको इस सफलता पर एक बार फिर हार्दिक बधाई और शुभकामनायें कि आप आगे भी और प्रयास जारी रख उच्च प्रशासनिक पद पर पहुंचेंl 
- बहुत बहुत धन्यवाद सर, मैं कोशिश जारी रखूंगाl