कैरियर गाइडेंस कार्यक्रम के तहत प्रशासनिक अधिकारियों ने दिया युवाओं को मार्गदर्शन     |    हरित क्रांति की मसीहा, भोपाल कमिश्नर कल्पना कल्पना श्रीवास्तव "दीदी"    |    दलहनी फसलों को बढ़ावा देने कृषि अधिकारियों को कलेक्टर श्री यादव ने दिए निर्देश    |    पुलिस का ये चेहरा बहुत ही अच्छा है    |    कलेक्टर के प्रयास से मानसिक विक्षिप्त महिला को मिला परिवार, बेटे को 2 साल बाद मिली मां    |    कलेक्टर ने हाथ मिलाकर शुभकामनायें दीं फिर रवाना किया    |    सब जीते पर दशरथ माँझी हारे    |    पटवारी परीक्षा में फेल होने पर भी दी जा सकेगी पटवारी पद पर नियुक्ति    |    छोटी-छोटी समस्याओं के लिए लोगों को भोपाल न आना पड़े    |    सरकार जल्दी ही एक हल्के पर एक पटवारी करेगी    |    

लेखपाल की नौकरी करने में सबसे बड़ी समस्या

PUBLISHED : Sep 16 , 12:32 PM

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

लेखपाल की नौकरी करने में

 

 

सबसे बड़ी समस्या

 

पूर्व में ही क्षमा-याचना मांगते हुये कुछ विचार प्रस्तुत हैं-

अपवाद तो हर समाज में होते हैं लेकिन लेखपाल की नौकरी करने में सबसे बड़ी समस्या है कि अगर आप किसी तरह एन केन प्रकारेण किसी का शोषण किये बिना अपनी नौकरी बचाना चाहते हैं तो आप कानूनगो, नायब तहसीलदार, तहसीलदार, SDM या किसी भी अधिकारी की किसी गलत बात का विरोध करते हैं तो आप का इतना उत्पीड़न होगा कि आप भी विरोध करना बंद करके सब सहने की आदत बना लेंगे......... जैसे आज "दैनिक जागरण" समाचार पत्र में बलिया जिले के SDM वर्मा जी की न्यूज प्रकाशित हुई है कि उनको केवल DM. को सही नियम कानून, रूल्स बताने के कारण बाद में रंजिशवश निलंबित कर दिया गया,,,, हाईकोर्ट जाने पर उनकी बहाली हुई,,,,, अधिकारी बिना कोई संसाधन दिये सभी काम तत्काल बिना उचित समय दिये करवा लेना चाहते हैं,,,,,, और लेखपालों की कोई भी उचित समस्या राजस्व मंत्री, मुख्यमंत्री तक नहीं पहुंचने देते हैं, और सबकी नजरों में हमेशा लेखपाल को सबसे भ्रष्ट कर्मचारी बने रहना देना चाहते हैं, समाधान केवल एकता बना कर संगठित हो कर, पुर्ण समर्पित हो कर, वास्तव में सभी सरकारी काम बंद करने से ही संभव होगा....

#लेखपाल क्रांति ज़िंदाबाद