पटवारी आवेदन की तारीख बड़ी अब 15 तक कर सकेंगे आवेदन    |    चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संवर्ग का वेतनमान अब 5200-20200-1700 होगा, आदेश जारी    |    लिपिक वर्गीय कर्मचारियों की बल्ले बल्ले, पदनाम परिवर्तित, ग्रेड पे बढ़ा    |    पटवारी भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण तथ्य 2    |    पटवारियों की बम्फर भर्ती प्रक्रिया शुरू, कल से भरे जा सकेंगे ऑनलाइन फ़ार्म    |    कलेक्टर डॉ. सुदाम खाडे ने समस्याएं निराकृत करने दिए निर्देश    |    अपर कलेक्टर श्रीमती दिशा प्रणय नागवंशी द्वारा ग्राम बरखेडा बोंदर और परवलिया सड़क का भ्रमण    |    संविदा पर भर्ती से तहसीलदार जैसे एक महत्वपूर्ण पद की महत्ता कम होगी : मुकुट सक्सेना     |    स्थानांतरित पटवारी तत्काल कार्यभार ग्रहण करें, वरना होगी सख्त कार्यवाही - कलेक्टर डॉ. खाडे     |    पटवारी जी कृपया नामांतरण ग्राम पंचायत में ही प्रमाणित करवाएं    |    

भ्रष्टाचार के दलदल में नहाने वाले लोग

PUBLISHED : Sep 05 , 6:32 PM

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

अपने को स्वच्छ और पटवारियों को भ्रष्ट बता रहे हैं 

 

 

भ्रष्टाचार के दलदल में नहाने वाले लोग

 

- सतीश जी. सोनी, पटवारी, सिवनी

 

हाँ एक तरफ मंत्री, विधायक और अधिकारी, पटवारीयों को आये दिन विभागीय कार्यो के लिए लज्जित करते रहते हैं। विभागीय लचरता, आर्थिक और पदों की कमियों से जूझ रहे राजस्व विभाग में केवल पटवारीयों को ही सीख/नसीहत दी जा रही है। और तो और स्वयं भ्रष्टाचार के दलदल में नहाने वाले लोग अपने को स्वच्छ और पटवारियों को भ्रष्ट बता रहे हैं इतना ही नहीं पटवारीयों को गुमराह करके राजनीति करने वाले कुछ एक पटवारी साथी भी अब अपनों पर ही अंगुलियां उठाकर राजनीति के खेल के रिंग मास्टर बनना चाह रहे हैं।

ऐसे लोगों को यह मालूम होना चाहिए कि पटवारीयों का एक बडा समूह कम्प्यूटरीकृत जमाने का है, जो बहकावे या घिनोनी राजनीति का हिस्सा नहीं है और इस तरह से यदि पटवारीयों के नेता के मुखोटे पहन कर ये लोग पटवारीयों की ही टांग खीचने में लग गए हैं तो फिर ये मंत्री, विधायक और अफसरों द्वारा की जाने वाली बेबुनियाद शिकायतों और कार्यवाहियों के बोझ तले प्रदेश में रोजाना कहीं ना कहीं हमारा आम पटवारी साथी मौत का शिकार होगा। शायद अब इन्हें इससे क्या, ये तो नेता बन बैठे हैं और राजनीति का खेल, खेल रहे हैं।

खेलो! खेलो! खूब खेलो!  
इतना ही कहना चाहूंगा कि जब आम पटवारी खेलने मे आयेगा तो सबका खेल तमाशा में तबदील हो जायेगा।