दलहनी फसलों को बढ़ावा देने कृषि अधिकारियों को कलेक्टर श्री यादव ने दिए निर्देश    |    पुलिस का ये चेहरा बहुत ही अच्छा है    |    कलेक्टर के प्रयास से मानसिक विक्षिप्त महिला को मिला परिवार, बेटे को 2 साल बाद मिली मां    |    कलेक्टर ने हाथ मिलाकर शुभकामनायें दीं फिर रवाना किया    |    सब जीते पर दशरथ माँझी हारे    |    पटवारी परीक्षा में फेल होने पर भी दी जा सकेगी पटवारी पद पर नियुक्ति    |    छोटी-छोटी समस्याओं के लिए लोगों को भोपाल न आना पड़े    |    सरकार जल्दी ही एक हल्के पर एक पटवारी करेगी    |     एसआर मोहंती बने कमलनाथ सरकार में नए प्रशासनिक मुखिया    |    चुनाव प्रक्रिया में किये बदलाव प्रजातन्त्र को मज़बूत करेगें -कलेक्टर दीपक सक्सेना    |    

सरकार जल्दी ही एक हल्के पर एक पटवारी करेगी

PUBLISHED : Jan 01 , 7:18 PM

 


 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

सरकार जल्दी ही एक हल्के पर एक पटवारी करेगी

 

 
ताकि किसानों के कामकाज में लेट लतीफी न हो
 
 
-राजस्व मंत्री श्री गोविन्द राजपूत
 
 
राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिये फरवरी से
 
 
लोक अदालतें लगेंगी, नई कोलार तहसील का शुभारंभ
 
 
 
 
''सरकार जल्दी ही एक हल्के पर एक पटवारी करेगी, ताकि किसानों के कामकाज में लेट लतीफी न हो। यह बात नए साल से काम शुरू हो जाए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी की इस सोच के के लिए नए साल के एक दिन पूर्व राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने बैरागढ़ चीचली में भोपाल जिले की नई कोलार तहसील के शुभारंभ किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रत्येक हल्के पर एक पटवारी को पदस्थ करेगी। अभी 3-4 हल्के का प्रभार एक पटवारी पर है, इससे किसानों के काम प्रभावित होते हैं। सरकार नागरिकों की सुविधाओं और उनकी कठिनाइयों को दूर करने के लिये पटवारी व्यवस्था को और बेहतर बनायेगी। इस अवसर पर विधि एवं विधायी मंत्री श्री पी.सी. शर्मा और विधायक श्री आरिफ मसूद भी उपस्थित थे।''

भोपाल। श्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि लोकप्रिय मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शपथ के एक घंटे के भीतर जिस प्रकार किसानों की कर्जमाफी का निर्णय लिया, उसी तर्ज पर 4-5 दिन के भीतर भोपाल जिले को कोलार के रूप में नई तहसील की सौगात भी दी। मुख्यमंत्री की इच्छा थी कि नये साल में नई तहसील का उद्घाटन न हो, बल्कि नये साल से नई तहसील कार्य करना शुरू कर दे। उनकी इसी मंशा को ध्यान में रखकर एक दिन पूर्व 31 दिसम्बर को नई तहसील का शुभारंभ किया गया है। तहसील कार्यालय का भवन सभी सुविधाओं से युक्त है। उन्होंने बताया कि जनवरी में होने वाली पहली केबिनेट के बाद गाँवों में कर्जमाफी के प्रमाण-पत्र वितरित करने का कार्यक्रम है। श्री राजपूत ने राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों से कहा कि वे छोटे-छोटे प्रकरणों को तय सीमा में निराकृत करें। प्रकरणों के लम्बित रहने अथवा निराकृत नहीं होने की स्थिति में संबंधित अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। श्री राजपूत ने बताया कि राजस्व संबंधी प्रकरणों के निराकरण के लिये फरवरी माह से लोक-अदालतें लगाई जायेंगी।

श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि किसानों की आर्थिक स्थिति ठीक होगी, तो प्रदेश की अर्थ-व्यवस्था सुदृढ़ होगी। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ जिस सोच और चिंतन के साथ आगे बढ़ रहे हैं, वह प्रदेश के हित में और प्रदेशवासियों को राहत पहुँचाने वाला है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत बनाने की दिशा में लगातार प्रयास करेगी, ताकि कृषि के क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ें।

प्रारंभ में श्री गोविंद राजपूत ने तहसील कार्यालय का फीता काटकर शुभारंभ तथा भवन के विभिन्न कक्षों का अवलोकन किया। भोपाल संभागायुक्त श्री कविन्द्र कियावत, कलेक्टर श्री सुदाम खाड़े और श्री अरुण श्रीवास्तव ने मंत्रीद्वय का स्वागत किया। इस अवसर पर पूर्व सांसद श्री सुरेन्द्र सिंह ठाकुर तथा सर्वश्री मनोहर नागर, नरेश ज्ञानचंदानी, श्याम सिंह मीणा, अवनीश भार्गव, संजय श्रीवास्तव, श्रीमती आभा सिंह और श्रीमती माण्डवी चौहान सहित अनेक जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।