पटवारी आवेदन की तारीख बड़ी अब 15 तक कर सकेंगे आवेदन    |    चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संवर्ग का वेतनमान अब 5200-20200-1700 होगा, आदेश जारी    |    लिपिक वर्गीय कर्मचारियों की बल्ले बल्ले, पदनाम परिवर्तित, ग्रेड पे बढ़ा    |    पटवारी भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण तथ्य 2    |    पटवारियों की बम्फर भर्ती प्रक्रिया शुरू, कल से भरे जा सकेंगे ऑनलाइन फ़ार्म    |    कलेक्टर डॉ. सुदाम खाडे ने समस्याएं निराकृत करने दिए निर्देश    |    अपर कलेक्टर श्रीमती दिशा प्रणय नागवंशी द्वारा ग्राम बरखेडा बोंदर और परवलिया सड़क का भ्रमण    |    संविदा पर भर्ती से तहसीलदार जैसे एक महत्वपूर्ण पद की महत्ता कम होगी : मुकुट सक्सेना     |    स्थानांतरित पटवारी तत्काल कार्यभार ग्रहण करें, वरना होगी सख्त कार्यवाही - कलेक्टर डॉ. खाडे     |    पटवारी जी कृपया नामांतरण ग्राम पंचायत में ही प्रमाणित करवाएं    |    

पटवारी छोड़ेंगे अतिरिक्त हल्के

PUBLISHED : Dec 15 , 12:30 PM

 

 

मध्यप्रदेश जागरूक पटवारी संघ की
 
विशेष वार्षिक आम सभा 21 दिसम्बर को
 
 
अतिरिक्त हल्का छोड़ने पर
 
 
बनेगी प्रदेश स्तर पर सहमति
 


भोपाल। मध्यप्रदेश जागरूक पटवारी संघ की विशेष वार्षिक आम सभा का आयोजन होटल पलाश न्यू मार्केट में 21 दिसम्बर को किया गया है। इसी के साथ पटवारी संघ नेता आदरणीय श्री कोदर सिंह मौर्य जी, आदरणीय श्री प्रकाश माली जी सहित प्रदेश के समस्त पटवारियों को अतिरिक्त हल्के का बस्ता तहसील में जमा करने के बारे में एकमत हो कार्य करने के लिये सादर आमंत्रित किया गया है।

प्रांताध्यक्ष मुकुट सक्सेना ने बताया कि प्रदेश में 11622 पटवारी पद हैं, इनमें से लगभग 3000 पद रिक्त हैं और लगभग 1000 से अधिक पटवारी कार्यालयों में अटैच एवं निलंबित हैं, इस कारण 4000 से भी ज्यादा अतिरिक्त पटवारी हल्कों पर पटवारी अतिरिक्त वेतन के बिना लगातार अतिरिक्त कार्य कर रहे हैं।

उन्होने बताया अतिरिक्त पटवारी हल्कों पर अतिरिक्त कार्य कुछ समय के लिये आगामी व्यवस्था तक तो चलता है, पर शासन द्वारा रिक्त पदों की पूर्ति ना की जाकर पटवारियों से अतिरिक्त वेतन के बिना लगातार अतिरिक्त पटवारी हल्कों पर अतिरिक्त कार्य कराया जा रहा है, जो कि अनुचित है। संघ द्वारा लम्बे समय से रिक्त पद भरे जाने एवं जब तक रिक्त पद नहीं भरे जाते, तब तक नियमानुसार अतिरिक्त पटवारी हल्कों पर अतिरिक्त कार्य का अतिरिक्त वेतन की मांग की जाती रही है, लेकिन शासन का इस तरफ कोई ध्यान नहीं है। ना तो शासन रिक्त पद भरने की दिशा में कोई कार्यवाही कर रहा और ना ही अतिरिक्त कार्य का अतिरिक्त वेतन दे रहा। ऐसी स्थिति में पटवारियों के पास एक ही रास्ता है कि वह अतिरिक्त हल्कों पर कार्य करना बंद कर दें।

उन्होने बताया  पटवारी अतिरिक्त हल्के पर कार्य करने को बाध्य नहीं हैं। संघ के अभियान " अतिरिक्त हल्का छोड़ो " के अंतर्गत प्रदेश स्तर पर सहमति बन रही हैइसमें मध्यप्रदेश राज्य प्रशासनिक सेवा संघ, मध्यप्रदेश राजस्व अधिकारी सेवा संघ से भी सहयोग लिया जा रहा है।