राजस्व अधिकारी दायित्वों के प्रति गंभीरता बरतें – मुख्य सचिव श्री सिंह    |    सेवानिवृत्ति पर भावभीनी विदाई    |     पटवारी भर्ती, आज फिर 4000 से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा से वंचित    |    पटवारी भर्ती, TCS की व्यवस्था पर उठे सवाल     |    'दीनदयाल रसोई योजना' आम ग़रीबजनों के लिए वरदान साबित    |    पटवारी भर्ती परीक्षा 9 दिसम्बर से कलेक्टर बनाए गए समन्वयक    |    कार को वाय वाय, साईकिल से दफतर जाया करेंगे कलेक्टर     |     पटवारी परीक्षा कार्यक्रम में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है     |    निकलने वाली हैं बहुत जल्द 2300 असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती    |    पटवारी आवेदन की तारीख बड़ी अब 15 तक कर सकेंगे आवेदन    |    

पटवारी के शोषण के पीछे एक कारण यह भी ...?

PUBLISHED : Aug 29 , 3:15 PM

 

 
 
 
 
 
 
  
 
 
 
 
 
 
पटवारी के शोषण के पीछे 
 
एक कारण यह भी ..?

      प्रदेश में पटवारी की नियुक्ति व्यापम क्वालीफाई करने के बाद जिला स्तर की मैरिट में आने पर MPLRC की धारा 104 के अंतर्गत होती है। इसके अनुसार नियुक्तिकर्ता कलेक्टर होता है, परंतु राज्य एवं जिला स्तर पर क्वालीफाई करने के बावजूद पटवारी का नियुक्ति आदेश एस.डी.एम. के द्वारा किया जाता है। इससे एस.डी.एम. को पटवारी के निलंबन से बर्खास्त करने तक के अधिकार प्राप्त हो जाते हैं।

         पटवारी के शोषण से लेकर उस पर लगने वाले अधिकांश आरोपों का कारण यही है। जब तक धारा 104 के अंतर्गत पटवारी की नियुक्ति कलेक्टर द्वारा नहीं की जायेगी, उसका शोषण बंद नहीं होगा। और न ही चाटुकारिता और भ्रष्टाचार कम होगा।                                                                    

  - पंकज समाधिया, पटवारी जी दतिया